इंडियन प्रीमियर लीग(आईपीएल) का 12वां शानदार रहा है और फैन्स कोई कई रोमांचक मैच देखने को मिल चुके हैं, हालाँकि इसके साथ-साथ मौजूदा सीजन खराब अंपायरिंग के लिए हमेशा याद किया जायेगा. गुरूवार रात को चेन्नई सुपर किंग्स और राजस्थान रॉयल्स के बीच भी एक बेहद रोमांचक मैच देखने को मिला, हालाँकि इस दौरान एक बड़ा विवाद भी खड़ा हो गया.

अंपायर के खराब फैसले के बाद मैदान में अंपायर से  भिडे धोनी

Image result for dhoni fight with umpire ipl

मैच के चेन्नई के बल्लेबाजी के अंतिम ओवर में अंपायर ने हाइट के कारण इस नॉबॉल दी लेकिन लेग अंपायर ने इस फैसले को बदल दिया, क्योंकि हाईट की नॉबॉल देने का अधिकार लेग अंपायर का होता है.

मैदान में इस नाटक को देखकर चेन्नई सुपर किंग्स के हमेशा कूल रहने वाले कप्तान एमएस धोनी भड़क गए और आउट होने के बाद मैदान पर अंपायर से उलझने लगे. इस दौरान धोनी काफी गुस्से में दिखाई दिये. धोनी की इस हरकत से दुनिया के दिग्गज क्रिकेटर बेहद हैरान और गुस्से में हैं, यहाँ तक कि इस घटना के बाद मैच रेफरी ने उन पर मैच फीस का 50 फीसदी जुर्माना भी लगा लेकिन पूर्व दिग्गज सलामी बल्लेबाज वीरेंद्र सहवाग इस जुर्माने से संतुस्ट दिखाई नहीं दे रहा हैं.

सहवाग बोले लगना चाहिए था 2-3 मैच का बैन

Related image
Advertisement

सहवाग ने क्रिकबज से बातचीत के दौरान कहा, कि “मुझे मानना है कि धोनी को मैदान पर नहीं उतरना चाहिए था. मैदान पर बल्लेबाज मौजूद थे, जोकि अंपायर्स से नॉबॉल पर चर्चा कर लेते.”

आगे सहवाग ने कहा, “धोनी ने जो किया उसके लिए उन पर 2 या 3 मैच का बैन लगना चाहिए था. इससे उन्हें अंपायर्स की अहमियत पता चलती.  इस दौरान सहवाग ने ये भी कहा कि धोनी यदि टीम इंडिया के लिए ऐसा करते तो मुझे खुशी होती. मैंने उन्हें टीम इंडिया के लिए इस तरह फील्ड में गुस्से होते नहीं देखा. मुझे लगता है कि वह चेन्नई की टीम के लिए ज्यादा भावुक हो गए.”  

Advertisement
Advertisement