टीम इंडिया के युवा ऑलराउंडर हार्दिक पांड्या और होनहार बल्लेबाज केएल राहुल इन दिनों के बड़े विवाद में फंसे हुए हैं. दरअसल कुछ दिनों पहले दोनों ही खिलाड़ी करन जौहर के शो ‘कॉफी विद करन’ में दिखाई दिए थे. इस दौरान उन्होंने महिला के लिए कुछ आपत्तिजनक बयान दिए थे. जिसके बाद बीसीसीआई ने उन्हें तत्कालीन प्रभाव से सस्पेंड कर दिया था और उनके खिलाफ जांच बिठाई थी.

Image result for pandya and rahul upset


हार्दिक पांड्या और केएल राहुल विवाद पर अब एक नया मोड़ आ गया हैं. दरअसल बीसीसीआई के लोकपाल डीके जैन कस इस मामले पर कहना है कि कमेटी ऑफ एडमिनिस्ट्रेशन (सीओए) ने अभी तक केएल राहुल और हार्दिक पंड्या का केस उन्हें ट्रांसफर ही नहीं किया है. लोकपाल डीके जैन को सुप्रीम कोर्ट ने बीते महीने बीसीसीआई के लोकपाल के तौर पर कार्यभार संभाला था. जिसके बाद उन्हें बीसीसीआई के अंदरूनी मामलों को सुलझाने का काम सौंपा गया है.

इस मामले पर जैन ने ताज़े बयान में कहा है कि  “मैंने अब तक किसी मामले में स्वत: संज्ञान नहीं लिया है. यदि सीओए कोई केस मुझे भेजता है तो मैं जरुर इस मामले में दखल दूंगा.”

Image result for pandya and rahul upset
Advertisement


हार्दिक पांड्या और केएल राहुल विवाद के बारे में कहा जा रहा है कि इस मामले को वर्ल्डकप 2019 तक शांत रखा जा सकता हैं. जिससे वर्ल्डकप से पहले खिलाड़ियों में किसी भी मानसिक प्रभाव न पड़े. हालाँकि अभी तक इस तरह की बात कैमरे के सामने नहीं की गयी हैं. वर्तमान में केएल राहुल ऑस्ट्रेलिया के विरुद्ध पांच वनडे मैचों की सीरीज खेल रहे है जबकि हार्दिक पांड्या चोट के कारण घर पर आराम कर रहे हैं.

इस मामले पर बीसीसीआई के एक सूत्र ने बताया है कि अगर हार्दिक पांड्या और केएल राहुल इस तरह की गलती दोबारा करते पाए गए तो उनपर आजीवन बैन पर भी विचार किया जा सकता है, हालाँकि फिलहाल उन पर ज्यादा कड़ी कार्यवाही नहीं होगी.




Advertisement
Advertisement