टीम इंडिया के आयरलैंड रवाना होने से पहले टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली और कोच रवि शास्त्री ने प्रेस कॉन्फ्रेस को संबोधित किया. टीम इंडिया को आयरलैंड दौरे पर दो टी-ट्वेंटी खेलने हैं. चोट के कारण अफगानिस्तान टेस्ट न खेलने वाले 29 वर्षीय विराट कोहली अब पूरी तरह से फिट हो चुके हैं.

दरअसल आईपीएल के दौरान विराट कोहली की गर्दन में चोट आई थी. जिसके बाद उन्हें बीसीसीआई की मेडिकल सलाहकार ने उन्हें इंग्लैंड और आयरलैंड दौरे से पहले आराम की सलाह दी थी. हाल में विराट कोहली ने बैंगलोर में यो-यो फ़िटनेस टेस्ट पास करके अपनी मजबूत वापसी के संकेत दिए हैं. प्रेस कॉन्फ्रेस के कोहली ने बताया कि अब वह पूरी तरह से हो गए हैं.

Advertisement

आयरलैंड दौरे से पहले विराट कोहली ने प्रेस कॉन्फ्रेस में कहा, “मैं 100 फ़ीसदी फिट हूँ और गर्दन पूरी तरह से ठीक हैं. मैंने 6-7 सत्र अभ्यास किये है, अब मेरा शरीर पूरी तरह फिट हैं.”

कुछ दिनों पहले तक इस तरह की अफ़वाहे उड़ रही थी कि कोहली की अनुस्पतिथि में रोहित शर्मा आयरलैंड के विरुद्ध टी-ट्वेंटी सीरीज में कप्तानी कर सकते हैं, लेकिन इस प्रेस कॉन्फ्रेस से कोहली के फिट होने की पुष्ठी हो गई हैं. जिसके कारण टी-ट्वेंटी सीरीज में वह कप्तानी करते हुए दिखाई देगे.

टीम में जगह बनाने के लिए यो-यो पास करना है अनिवार्य

Advertisement


टीम इंडिया में जगह बनाने के लिए पिछले कुछ वर्षो से फ़िटनेस को काफी अहमियत दी जाने लगी हैं. टीम के कोच रवि शास्त्री ने यो-यो टेस्ट की वकालत की हैं. शास्त्री ने बताया कि टीम इंडिया के खिलाड़ियों को 16.1 से 16.3 मानक अंक हासिल करने अनिवार्य है, जबकि ऑस्ट्रेलिया(19) और पकिस्तान(17 से ज्यादा) के खिलाड़ियों को इससे अभी अधिक मानक अंक हासिल करने होते हैं.

रवि शास्त्री ने यह साफ़ कर दिया है कि टीम इंडिया में बने रहने के लिए खिलाड़ियों को यह टेस्ट पास करना हो होगा. शास्त्री ने कहा, “यहाँ बने रहने के लिए यो-यो टेस्ट पास करना ही होगा, आप पास करते है तो अच्छा है वरना टीम से दूर चले जाओ. यहाँ गलती की कोई गुंजाइश नहीं है क्यूंकि यहाँ कप्तान खुद एक उदहारण सेट कर रहा हैं.”

Advertisement