रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर तीन फ्रेंचाइजी में से एक हैं जिन्होंने कभी भी आईपीएल खिताब को अपने नाम किया है। आईपीएल के इतिहास में तीन बार जीत के करीब आने के बावजूद,यह निराशजनक प्रदर्शन कर बैठती है।जिस वजह से यह अभी तक आईपीएल खिताब से दूर रहे है।

उन्होंने हमेशा से ही पेपर पर एक मजबूत टीम बनाई है ।लेकिन यह ज्यादातर क्रंच स्थितियों में प्रदर्शन करने में नाकाम रहे हैं। इसलिए, खिताब जीतना आरसीबी प्रशंसकों के असफल सपनो में से एक है। जो ग्यारह सत्रों तक चला ही आ रहा है।

इन्होने इस सीज़न 14 मैचो मे सिर्फ 6 मैचो मे ही जीत प्राप्त की है।जिस वजह से इन्हे आईपीएल 2018 से बाहर होना पड़ा।

Advertisement

आइए नजर डालते है आरसीबी के उन खिलाड़ियों पर जिन्हे रिटेन ना कर के आरसीबी पछता रहा होगा।

Advertisement
  • हर्षल पटेल

हर्षल पटेल भारत ए के तेज गेंदबाज है,जो दिल्ली डेयरडेविल्स जाने से पहले 2012 से रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर का हिस्सा था। इन्हें दिल्ली डेयरडेविल्स की टीम ने पांचवें मैच मे टीम मे शामिल किया था, लेकिन तब से, इन्होंने प्लेइंग XI में अपनी जगह पक्की कर ली है।बड़ी पारी की उनकी छिपी प्रतिभाएं प्रकाशित हुई है। जहां इन्होंने दो पारियों में 36 और 24 रन बनाए।

यह एक मूल्यवान गेंदबाज है जो अच्छी बाउंसर आसानी से कर सकता है। इन्होंने इस सीज़न में पांच मैच खेलते हुए सात विकेट हासिल किए हैं और 181.81 की स्ट्राइक रेट पर 60 रन बनाए हैं।

  • रॉबिन उथप्पा

The next phase of now!!

A post shared by Robin Uthappa (@robinaiyudauthappa) on

कोलकाता नाइट राइडर्स के नायक रॉबिन उथप्पा आईपीएल में सर्वश्रेष्ठ विकेटकीपर बल्लेबाजों में से एक हैं। इनकी पहली फ्रेंचाइजी मुंबई इंडियंस थी, जहां इनका एक सभ्य आउटिंग था और मुंबई इंडियंस के लिए इन्होने सिर्फ एक सीज़न में 277 रन बनाए है।

2009 की नीलामी में, उन्हें अपने घरेलू पक्ष रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर द्वारा खरीदा गया था। आरसीबी के लिए 29 मैचों में इन्होने 549 रन बनाए थे।इस के बावजूद इन्हें पुणे वॉरियर्स इंडिया में निर्विवाद बेच दिया गया था। जब से पुणे वॉरियर्स इंडिया को समाप्त कर दिया गया था, तब से वह कोलकाता नाइट राइडर्स के लिए अपना खेल दिखा रहे है।

  • मनीष पाँडे

????

A post shared by Manish Pandey ???????? (@manishpandeyinsta) on

कर्नाटक के बल्लेबाज मनीष पांडे आईपीएल के सबसे प्रमुख खिलाड़ियों में से एक रहे हैं। 2008 में मुंबई इंडियंस के लिए अपनी शुरुआत करने के बाद से, यह कई अन्य फ्रेंचाइजी का हिस्सा रहे है जिसमें रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर,  अप्रचलित पुणे वॉरियर्स इंडिया, कोलकाता नाइट राइडर्स और सनराइजर्स हैदराबाद शामिल हैं।

यह अपनी लचीली बल्लेबाजी शैली और फिल्डिंग कौशल के कारण हमेशा मांग में रहे है। आईपीएल में प्रभावशाली प्रदर्शन करने के बाद इन्हें 2015 से भारतीय टीम का हिस्सा बना दिया गया है।

2009 में आरसीबी ने पांडे को खरीदा था, जहां उन्होंने सिर्फ पांच मैचों में 168 रन बनाए थे। यह आईपीएल में शतक लगाने वाले पहले भारतीय क्रिकेटर बनकर इतिहास बनाने के लिए भी जाने जाते हैं।

  • करुण नायर

कर्नाटक बल्लेबाज करण नायर, घरेलू सर्किट में सबसे कंसिसटेंट प्रदर्शन करने वाले खिलाड़ियों में से एक रहे है। वह इस सीजन में किंग्स इलेवन पंजाब के लिए एक महत्वपूर्ण रोल अदा कर रहे है।

आक्रामक बल्लेबाज आईपीएल में एक भरोसेमंद मध्य क्रम के बल्लेबाज की भूमिका निभाता है। वह क्विकफायर कैमियो भी खेल सकता हैं जो टीम के लिए बहुत जरूरी हैं।

  • दिनेश कार्तिक

दिनेश कार्तिक संभवतः खेल के सबसे छोटे प्रारूप में सबसे कम रेटिंग वाले क्रिकेटरों में से एक रहे है।यद्यपि वह गेल जैसे खिलाड़ी तो नहीं है, जो इच्छाशक्ति के अनुसार लंबे लंबे हिट मारे।यह लगातार स्ट्राइक बदल सकते है।

उथप्पा के बजाय कप्तान के रूप में दिनेश कार्तिक ने बहुत सारी जिम्मेदारी उठाईं है ।

  • शेन वॉटसन

शेन वॉटसन, उत्तम दर्जे का दाहिने हाथ का बल्लेबाज दुनिया भर में टी -20 लीग का घरेलू नाम बन गया है। यह टीम के लिए एक योग्य खिलाड़ी है क्योकि इनके पास एक्सीलेंट ऑलराउंड स्किल्स है।

वह एक शुरुआती बल्लेबाज के साथ-साथ एक शुरुआती गेंदबाज की भूमिका भी निभा सकते हैं।वाटसन आसानी से कवर ड्राइव और स्क्वायर कट खेलने के लिए जाने जाते हैं।

  • क्रिस गेल

Daddy's day out ???? #LivePunjabiPlayPunjabi #KXIP #VIVOIPL

A post shared by Kings XI Punjab (@kxipofficial) on

क्रिस गेल, जिन्हे यूनिवर्सल बॉस के रूप में भी माना जाता है। खेल के सबसे छोटे प्रारूप को खेलने के लिए स्पष्ट रूप से सर्वश्रेष्ठ क्रिकेटर की ही जरुरत पड़ती है और क्रिस गेल उनमे से एक है। वह पिछले सीजन तक आरसीबी के बल्लेबाजी विभाग की रीढ़ की हड्डी में से एक रहे थे।

2017 में गेल के निराशाजनक प्रदर्शन ने उन्हें बैंगलोर के सेट-अप से बाहर देखा गया। बैंगलोर में उनकी उम्र-कारक ने उन्हें बरकरार रखने में बड़ी भूमिका निभाई। इसके बावजूद, कार्रवाई के तीसरे दौर के दौरान उन्हें 2 करोड़ के लिए किंग्स इलेवन पंजाब ने खरीद लिया था।

  • के एल राहुल

इस सीज़न के एल राहुल किंग्स इलेवन पंजाब के लिए खेले है।किंग्स इलेवन पंजाब के लिए खेलते हुए इन्होने आईपीएल इतिहास का सबसे तेज अर्धशतक जड़ा और साथ ही इनके पास ऑरेंज कैप थी।हालांकि अब यह कैप केन विलियमसन के पास चलि गई है।इससे पहले यह आरसीबी की टीम मे थे और इन्हे रिटेन ना कर आरसीबी के मालिक पछता रहे होगे।

  • भुवनेश्वर कुमार

Enroute bangalore ✈️✈️

A post shared by Bhuvneshwar Kumar (@imbhuvi) on

आरसीबी की गेंदबाजी की परेशानियों को ध्यान में रखते हुए भुवनेश्वर कुमार एक खिलाड़ी हैं, जिन्हें वे जाने के लिए पछतावा करते होगे। हालांकि इनके लिए उचित होगा, 2009 और 2010 में, यह भारतीय टीम में एक अज्ञात व्यक्ति थे।इस समय यह सनराइजर्स हैदराबाद के लिए खेलते हौ और शानदार लय मे चल रहे है।

  • स्टीव स्मिथ

Out and about in Cape Town with @dani_willis ☀️????

A post shared by Steve Smith (@steve_smith49) on

स्मिथ ने बैंगलोर फ्रेंचाइजी के लिए एक भी गेम में हिस्सा नहीं लिया था और सीजन के अंत में कोच्चि टस्कर्स केरल में चले गए थे।इस सीज़न भी इन्हे राजस्थान रॉयलस ने खरीदा था, परंतु बॉल टेम्परिंग विवाद के चलते यह इस सीज़न मे खेल नही पाए थे।

 

Advertisement