निदहास ट्रॉफी फाइनल जीतने के बाद इतना निराश हुआ यह भारतीय खिलाड़ी कि कर लिया खुद को कमरे में बंद.

निदहास ट्रॉफी का फाइनल तो हम सभी को याद है, अगर दिनेश कार्तिक अपनी आतिशी पारी नही दिखाते तो यह ट्रॉफी बांगलादेश के हाथो मे होती।अगर भारत यह ट्रॉफी हार जाता तो जरुर इस बात का मलाल युवा ऑल राउंडर विजय शंकर को जरुर होता।

विजय शंकर ने अपने इंटरव्यू मे बताया कि अगर कार्तिक अंतिम गेंद पर विनिंग सिक्स नही लगाते तो सब मुझे ही हार का जिम्मेदार मानते और मुझे भी इस बात का जीवन भर मलाल होता कि मैंने देश को जीताने का मौका गँवा दिया।

शंकर ने आगे बढ़ते हुए बताया कि जब अंतिम गेंद पर भारतीय टीम को पाँच रन की जरुरत थी और कार्तिक क्रीज़ पर थे ।तब मैंने अपनी आंखें बंद कर दी थी और भग्वान से प्रार्थना करना शुरु कर दिया था।जैसे ही मैंने आँखे खोली जब तक स्टेडियम की आवाज़ मेरे कानो मे गूंजने लगी और मैंने तब राहत की साँस ली।फिर मैं कार्तिक की तरफ उन्हे गले लगाने चल पड़ा।

Advertisement

Advertisement

कार्तिक के बारे मे बात करते हुए विजय शंकर ने कहा कि यह मेरे मेंटर के रुप मे है और इन्होने हमेशा से ही मुझे सपोर्ट किया है।मैंने भी इन्हे अपना आदर्श माना है।मुझे इस बात का अफसोस है कि मैंने देश को जीताने का मौका अपने हाथो से गँवा दिया।इसी वजह से मैं मैच के बाद होटल मे जाकर इस पल के बारे मे सोच रहा था।मै हर पल यही सोच रहा था कि अगर भारत मैच हार जाती तो क्या होता?

जब मैं यह सब सोच रहा था तब कार्तिक मेरे पास आए ओर मुझे समझाने लगे , उन्हे पता था की मै उस वक्त कैसा फील कर रहा हूँ।कार्तिक के बाद अन्य सीनीयर खिलाड़ी भी आए और उन्होने समझाया कि क्रिकेट मे ऐसा होता है।

आगे बढ़ते हुए शंकर ने कहा कि एकदम बल्लेबाजी क्रम मे ऊपर जाना मेरे लिए हैरानी भरा था।जब मैं बल्लेबाजी करने गया तो मैंने सोच लिया था कि मैं सिंगल लेकर मनीष पाँडे को स्ट्राइक देता रहूंगा।इसके बाद बाउंड्री निकलना बंद हो गई, जिससे अबाव होना शुरु हो गया।बांगलादेशी गेंदबाजो की गेंदबाजी मे परिवर्तन देख हम हैरान हो गए थे और इस वजह से मैं नर्वस फील करने लग गया था।

आईपीएल की बात करे तो इस बार विजय शंकर दिल्ली डेयर डेविल्स की तरफ से खेलते नजर आएगे।दिल्ली डेयर डेविल्स ने 3.2 करोड़ में विजय शंकर को खरीदा था।हालांकि आईपीएल के पिछले सीज़नो मे इनका खास प्रदर्शन नही रहा।

2013 मे विजय शंकर चेन्नई सुपर किंग्स की टीम मे शामिल थे , परंतु इस साल इन्हे खेलने का मौका नही मिला था।2014 मे जब यह एकमात्र मैच खेले थे तो गेंदबाजी मे 1 ओवर करवाते हुए 19 रन दिए थे और कोई विकेट भी नही मिली थी।

 

 

Advertisement